A band of boys - कैसा है ये जादू

कैसा है यह जादू
हर तरफ है खुशबु
हर तरफ है खुशबु
तेरा ही है जादू
रंगो से भरा
तूने मेरा जहाँ
सांसो से तेरी
मेहका यह समां

कैसा है यह जादू
हर तरफ है खुशबु
हर तरफ है खुशबु

तेरा ही है जादू
रंगो से भरा
तूने मेरा जहाँ
सांसो से तेरी
मेहका यह समां

पाना चहु तुझे
अब शामों सहर
सीने में है बेकरारी
दिल न धड़के मगर


जले जलके तुझसे हवा
कहे मुझसे इतना बता
रंगो से भरा
जिसने तेरा जहाँ
सांसो से जिस की
मेहका यह समां
कैसा है यह जादू
हर तरफ है खुशबु
हर तरफ है खुशबु
तेरा ही है जादू

तारे है या ज़मीन (हं हं हं हं हं)

कुछ भी होश नहीं
आँचल भी अब तो तेरा (आँचल अब तो तेरा)
लगता है चांदनी (चांदनी)

लहेरो की है यह सदा
हमको भी उससे मिला
रंगो से भरा
जिसने तेरा जहाँ
सांसो से जिस की
मेहका यह समां
दर्द मीठा सा क्यों
मुझको होने लगा
दिन में और रात में
चैन खोने लगा
प्यार होने लगा

रंगो से भरा
तूने मेरा जहाँ
सांसो से तेरी
मेहका यह समां
कैसा है यह जादू (कैसा है यह जादू)
हर तरफ है खुशबु (हर तरफ है खुशबु)
हर तरफ है खुशबु (हर तरफ है खुशबु)
तेरा ही है जादू

Lyrics licensed by LyricFind